पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक बार फिर से एक 14 वर्षीय नाबालिग हिंदू युवती का अपहरण कर लिया गया है।

इस नाबालिग युवति ज्योति का अपहरण सिंध के जकोबाबाद नामक कस्बे से उस वक्त किया गया जब यह स्कूल गई हुई थी ।

महक दसवीं कक्षा की छात्रा है और उसके पिता विजय कुमार एक मेडिकल स्टोर चलाते हैं। विजय कुमार की तीन बेटियां और एक बेटा है और महक सबसे बड़ी है।

महक कुमारी के पिता को शक है कि उसकी बेटी को का जबरन निकाह करके उसका धर्म परिवर्तन कर दिया गया है।

अपहरणकर्ता की पहचान अली राजा मच्छी के रूप में हुई है जिसकी उम्र 28 साल है। आरोपी  पहले से ही शादीशुदा है और अब तक दो बार निकाह कर चुका है और उसके चार बच्चे हैं।

अपहरणकर्ता फरार है। हालांकि जकोबाबाद पुलिस ने उसके चाचा ,कुछ चचेरे भाइयों और परिवार के सदस्यों को जकोबाबाद  और झटपट नामक जगहों से गिरफ्तार किया है।

ऑल पाकिस्तान हिंदू पंचायत ने इस अपहरण की निंदा की है। पंचायत के महासचिव रवि धवानी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से न्याय की गुहार लगाई है।

गौरतलब है कि इससे पहले पिछले साल दिसंबर में 14 साल की एक नाबालिग क्रिश्चियन युवती हुमा यूनुस का कराची से  अपहरण कर लिया गया था । उसके बाद उसका जबरन धर्मांतरण करवा कर अब्दुल जब्बार नामक अपहरणकर्ता से निकाह करवा दिया गया था।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियां और महिलाएं सुरक्षित नहीं है। मुस्लिम समुदाय के लोग उनका अपहरण करके जबरन धर्मांतरण करवा रहे हैं और उनका शारीरिक शोषण किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here