इलाहाबाद हाईकोर्ट ने शुक्रवार को अपने एक अहम फैसले में कहा है कि लाउडस्पीकर से जोर-जोर से अजान करना इस्लाम का हिस्सा नहीं है ।

हाईकोर्ट ने लाउडस्पीकर से अजान की अनुमति देने से इंकार कर दिया ।

जस्टिस शशिकांत गुप्ता और जस्टिस अजीत कुमार की खंडपीठ ने गाजीपुर के सांसद अफजाल अंसारी और फर्रुखाबाद के सैयद मोहम्मद फैजल की याचिकाओं पर कहा अजान इस्लाम का हिस्सा नहीं है।

लेकिन जब लाउड स्पीकर नहीं था तब भी अजान होती थी इसलिए नहीं कह सकते कि स्पीकर से अजान रोकना अनुच्छेद 25 के धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकार का उल्लंघन है।

धार्मिक संस्थाओं द्वारा लाउडस्पीकर के दुरुपयोग पर लगे रोक

जाहिर है हाईकोर्ट के इस फैसले से एक समुदाय विशेष की भावनाएं आहत हुई हों। लेकिन यह नियम मस्जिद के अलावा दूसरे धार्मिक संस्थानों पर भी लागू किया जाना चाहिए क्योंकि लाउडस्पीकर का दुरुपयोग तो लगभग हर धार्मिक संस्था के धार्मिक स्थलों में हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here