लगभग तीन दिन तक पाकिस्तान सेना की हिरासत में रहे भारतीय ज़ाबांज पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने वतन वापिस लौट कर बताया है कि उनको पाकिस्तान में कोई शारीरिक यातना तो नही दी गई लेकिन उनको मानसिक तनाव से गुज़रना पड़ा | पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने उनसे भारत की सुरक्षा से जुड़े कई राज उगलवाने चाहे लेकिन अभिनंदन ने बड़ी बहादुरी से पाकिस्तानियों के मूह बंद कर दिए|

हम आपको बता रहे हैं अभिनंदन के शौरय से जुड़े तीन उदाहरण जो उनको न केवल एक साहसी सैनिक बताते हैं बल्कि देश के लिए मर मिटने के जज़्बे को भी :

ख़ुफ़िया दस्तावेज निगल गये :

पाकिस्तान से सामने आए एक वीडियो में दावा किया गया था की विंग कमांडर को जब पता चला की वह पाकिस्तान में हैं तो उन्होने सबसे पहले कुछ दस्तावेज़ जेब से निकले और उनको निगल गये| हालाँकि उनके पास भारत पाक सीमा का एक नक्शा भी था जो पाकिस्तान की सेना ने अपने पास रख लिया| उन्होने अभिनंदन का रिवाल्वर भी नही लौटाया|

पाकिस्तानियों के सामने कहा जय हिंद

अभिनंदन जब पाकिस्तान मे उतरे तो उन्होने लोगों के सामने जे हिंद का नारा लगाया जिससे पाकिस्तानी आग-बबूला हो गये और उन पर पत्थर बरसाने लगे | अभिनंदन ने उनका डॅट कर मुकाबला किया और उनको उनकी औकात दिखाई |

पाक सेना अधिकारियों की बोलती बंद

अभिनंदन को हिरासत में ले कर पाकिस्तान की सेना और आईएसआई के अधिकारी उन पर भारत से जुड़े ख़ुफ़िया राज उगलवाने के लिए लगातार दबाव बनाते रहे| अभिनंदन ने अपने जवाब में सिर्फ़ इतना कहा क़ी उनका नाम अभिनंदन है और वह भारतीय वायुसेना में एक पायलट हैं और इसके अलावा वह उनको कुछ नही बता सकते |

पाकिस्तानी सेना अभिनंदन के ब्यानों के वीडियो रेकार्ड करती रही और उनको काट-काट कर सोशल मीडिया के ज़रिए शेयर करती रही | लेकिन भारत का वीर सिपाही सीना ताने खड़ा रहा और सकुशल देश लौट आया |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here