भारत के खिलाफ अमेरिकी F16 फाइटर जेट का इस्तेमाल करके फंसा पाकिस्तान

पाकिस्तान ने जल्दबाजी और बदले की भावना से भारत के खिलाफ कथित एयर स्ट्राइक तो कर दी लेकिन इस हमले में वह F-16 अमेरिकी फाइटर जेट विमानों के इस्तेमाल से पूरी तरह से फंस गया है क्योंकि हमारी कौन है कौन है पाकिस्तान को के लड़ाकू विमान देते वक्त एक शर्त रखी थी कि वह इनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं करेगा।

इसलिए पाकिस्तान द्वारा भारत के खिलाफ इस्तेमाल में लाए गए f-16 लड़ाकू विमान का सबूत भारत के लिए बहुत मायने रखता है ।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने अमेरिका से विमान खरीदते हुए अमेरिका को आश्वासन दिया गया था कि F -16 फाइटर जेट का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं किया जाएगा। इस जेट का इस्तेमाल केवल अफ़ग़ानिस्तान सीमा पर उग्रवाद के खिलाफ किया जाएगा।

दरअसल पाकिस्तान द्वारा अमेरिका से की गई फाइटर जेट f-16 की खरीद बेहद जटिल है ।अमेरिका ने पाकिस्तान को इसलिए f-16 विमान दिए थे ताकि वह अफगानिस्तान में सोवियत संघ को काउंटर कर सके । वास्तव में F-16 विमानों का इस्तेमाल सोवियत संघ के सुखोई- 22 और मिग-21 को गिराने के लिए किया गया था। दिलचस्प बात यह है कि भारत के मिग-21 विमान ,जिसका इस्तेमाल अब धीरे धीरे बंद किया जा रहा है ,ने ही अमेरिका के अत्याधुनिक फ़-16 विमान को गिराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।

दरअसल पाकिस्तान F-16 जैसे फाइटर जेट खरीदने के लिए किसी भी हद तक जा सकता था।
पाकिस्तान ने अफगानिस्तान और सोवियत संघ की आड़ में अमेरिका से F-16 जैसे विमान हासिल कर लिए और उसे कोई दिक्कत नही हुई।

लेकिन जैसे ही भारत और पाकिस्तान द्वारा परमाणु बम के परीक्षण किए गए उसके बाद अमेरिका ने पाकिस्तान को f-16 फाइटर जेट विमान बेचने बंद कर दिए।हालांकि क्लिंटन प्रशासन पाकिस्तान को यह फाइटर जेट बेचना चाहता था।

पाकिस्तान ने अमेरिका को 71 F-16 विमान खरीदने के लिए 1.4 बिलियन डॉलर अदा किए थे जिसका भारत ने कड़ा विरोध किया था ।

भारत के विरोध के चलते अमेरिका ने पाकिस्तान पर यह शर्त लगाई थी कि F16 फाइटर जेट का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं करेगा।

पाकिस्तान पर जब अमेरिका ने F-16 फाइटर जेट्स खरीदने पर पाबंदी लगा दी तो पाकिस्तान ने जॉर्डन से 13 पुराने F-16 फाइटर जेट्स खरीद लिए।

अमेरिका की पाबंदी के चलते ही पाकिस्तान ने फाइटर जेट खरीदने के लिए चीन से भी दोस्ती कर ली।

पाकिस्तान द्वारा भारतीय सीमा में घुसपैठ करने के लिए जिन फाइटर जेट्स का इस्तेमाल किया उसमें F 16 के अलावा चीन में निर्मित जेएफ-17 फाइटर जेट भी शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here