• मुज़्ज़फ़्राबाद हमले में मरने वाले कुल उग्रवादियों की संख्या पर संशय
  • रायटर्स और बीबीसी के मुताबिक पेड़ों पर गिरे बम
  • जैश के ठिकानों की तबाही की पुष्टि

मंगलवार सुबह तड़के जब भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान के मुजफ्फराबाद सेक्टर में एयर स्ट्राइक की तो भारतीय मीडिया में दावा किया गया था कि इन बमों से ढाई सौ से 300 उग्रवादी मारे गए हैं।

हालांकि एयर स्ट्राइक में कुल कितने लोग मारे गए यह अभी तक एक रहस्य है। अगर कुछ विश्वसनीय अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों जैसे रायटर्स और बीबीसी की रिपोर्टस पर गौर करें तो जिन इलाकों इलाकों में भारतीय वायु सेना ने बम गिराए वहां पर इतनी कैजुअल्टी नहीं हुई। हालांकि यह साबित हो चुका है कि वहां पर जैसे मोहम्मद के आतंकी शिविर थे जो पूरी तरह से तबाह कर दिया जाए।

भारत की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा था कि वह अगले दिन अंतरराष्ट्रीय मीडिया को घटनास्थल पर लेकर जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक मुजफ्फराबाद सेक्टर के कंगड गांव में जहां कुछ बम गिराए गए थे वहां पर दर्जन से ज्यादा पेड़ नष्ट हुए और कुछ घरों को नुकसान पहुंचा। बीबीसी के रिपोर्ट यह भी बताती हैं कि इस क्षेत्र के अस्पताल में 60 बिस्तरों की व्यवस्था की गई थी।

कुल मिलाकर भारत की एयर स्ट्राइक में मरने वाले कुल जैश उग्रवादियों की संख्या पर अभी भी विवाद है। जिन जगहों पर बम गिराए गए थे पाकिस्तान सरकार ने वहां पर लोगों के आने जाने पर पाबंदी लगा दी है ताकि भारत की एयर स्ट्राइक्स से मरने वाले उग्रवादियों की गिनती का पता ना चले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here