कोरोना वायरस कई तरह के विषाणुओं का एक परिवार है जिसके संक्रमण से मनुष्य बीमार हो जाता है।

सामान्य जुकाम ,बुखार, खांसी ,सांस लेने में दिक्कत ,निमोनिया इसके शुरुआती लक्षण है। ज्यादा गंभीर रूप से पीड़ित होने पर किडनी फेल हो जाना या फिर मौत भी हो सकती है।

नोवल कोरोना वायरस एक नया वायरस है जो पहले मनुष्य में नहीं देखा गया। यह वायरस जानवरों से मनुष्य और मनुष्य से मनुष्य के बीच फैल रहा है।

कोरोना वायरस से बचने के किए क्या करें

इस महामारी से बचने के लिए हमें बार-बार हाथ धोने चाहिए । खांसते और छींकते वक्त अपना मुंह और नाक ढक के रखना चहिए ।

ऐसी परिस्थिति में शाकाहार एक अच्छा भोजन है । जिस व्यक्ति में कोरोना वायरस सरीखे लक्षण हो उससे कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रखें ।

कोरोना वायरस का संक्रमण कैसे होता है 

दरअसल संक्रमित व्यक्ति जब खांसता या छींकता है तो उसके छींटे आस पास रखे रखे सामान या जमीन पर गिरते हैं ।इन छींटों में वायरस होता है जो 24 घंटे तक जीवित रहता है।

यानी 24 घंटों के भीतर अगर आपका हाथ उस सामान या जगह को छू ले तो आप आसानी से संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि आप अपने नाक ,आंख और मुंह को छूने से पहले अपने हाथ साबुन से अच्छी तरह से धो लें या सैनिटाइजर से हाथ को विषाणु मुक्त कर ले । ऐसा ना करने से आप संक्रमित हो सकते हैं।

छींकने,खांसने और संक्रमण रोकने का तरीका

कई बार अचानक छींक या खांसी आने पर हम अपने हाथ नाक या मुंह पर रख लेते हैं जो गलत है ।क्योंकि इससे वायरस हमारे हाथ में चिपक सकता है और हम दूसरे व्यक्ति को छू कर उसे भी संक्रमित कर सकते है।

इसलिए अगर आपको छींक या खांसी आए तो चेहरे पर रुमाल या टिशु पेपर रख लें। उसके बाद या तो हाथ धो लें या फिर सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

अगर आपके पास रुमाल ,मास्क या टिशू पेपर नहीं है तो ऐसी स्थिति में अपनी कोहनी मोड़ कर उसके ऊपर छींकें । कोहनी के आसपास का हिस्सा हम सामान्य तौर पर इस्तेमाल नहीं करते जिससे संक्रमण का अंदेशा नहीं रहता।

सार्वजनिक स्थानों पर  संक्रमण का खतरा

इसके अलावा कई सार्वजनिक स्थल या चीजें भी वायरस को फैलाने में मददगार है।

एटीएम मशीन ,बायोमेट्रिक मशीन, ट्रेन और बस के हैंडल ,दरवाजे , सार्वजनिक नल या शौचालयों के दरवाजे भी कोरोना वायरस का संक्रमण फैला सकते हैं। इन चीजों को छूने के बाद तुरंत हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से परहेज करें ।और अगर आपको अस्पताल जैसी जगहों पर जाना ही है तो मुंह पर मास्क पहन लें। एक सामान्य मास्क का इस्तेमाल सिर्फ छह घंटे ही करें।

आप वायरस से बचना चाहते हैं तो बार-बार हाथ धोते रहें। इस जानकारी को अपने रिश्तेदारों और मित्रों के साथ सांझा करें ताकि इस महामारी से बचा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here