ये है हरियाणा के पंचकूला का गुमथला गांव जिसके निवासियों ने अबकी बार लोकसभा चुनाव बहिष्कार करने का फैसला किया।

यह फैसला शौकिया नहीं बल्कि एक मजबूरी के चलते लिया गया।

दरअसल पिछले 5 सालों के दौरान कोई भी जनप्रतिनिधि इस गांव की सुध लेने नहीं पहुंचा ।
गांव की नदी पर पुल नहीं है ।शहर जाने के लिए कोई सड़क तो दूर रास्ता तक नहीं है । पीने के पानी की कमी है ।

जैसे ही चुनाव आते ,नेता सुविधाऐं देने का भरोसा दे कर वोट पक्का करके खिसक लेते।

लेकिन अबकी बार लोकसभा चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार जैसे ही गांव पहुंचे लोगों ने उनको बाहर का रास्ता दिखा दिया ।

अब गुमथला गांव के पोलिंग स्टेशन का नजारा भी देख लीजिए। इस पोलिंग स्टेशन पर तैनात अधिकारी और कर्मचारी मतदाताओं की बाट जोह रहे हैं। लेकिन मतदाता बहिष्कार के चलते घरों में बैठे रहे।

शायद पांच साल बाद शक्ल दिखाने वाले नेताओं को सबक सिखाने का ये सही तरीका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here