भारत और रूस के बीच में R-27 मिसाइल खरीदने को हुए समझौता हुआ है|

दोनों देशों के बीच  1500 करोड़ रु. की डील हुई है। आर-27 मिसाइल को लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमकेआई में लगाया जाएगा।

रूस की R -27 मिसाइलें हवा से हवा में मार करने में सक्षम हैं। इनके सुखोई लड़ाकू विमानों में लगने के बाद उसकी क्षमता और बढ़ जाएगी।

भारतीय वायु सेना ने स्पाइस-2000और स्ट्रम अटका एटीजीएम जैसी मिसाइलों को हासिल करने के लिए लगभग 7,600 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।

इससे पहले जून में भारत और रूस के बीचएंटी-टैंक मिसाइल ‘स्ट्रम अटाका’ खरीदने के लिए 200 करोड़ रुपए का समझौता हुआ था। इन मिसाइलों को एमआई-35 हेलिकॉप्टर में लगाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here