पाकिस्तान में हिन्दू और दूसरे अल्पसंख्यकों की लड़कियों और महिलाओं के जबरन धर्मान्तरण , शारीरिक शोषण और हत्याओं का सिलसिला जारी है | ताज़ा मामले में अब सिंध सूबे के लरकाना में एक हिंदू छात्र निमरिता कुमारी की संदिग्ध परिस्थियों में मौत से हिन्दू समुदाय में रोष है | छात्र परिजनों का आरोप है की उसकी हत्या कर दी गई है |

निमरिता के भाई डॉ. विशाल ने कहा है कि उनकी बहन की हत्या की गई है। उन्होंने कहा कि हॉस्टल में मृत पाए जाने के दो घंटे पहले निमरिता ने कॉलेज में मिठाई बांटी थी। आखिर दो घंटे में ऐसा क्या हो गया की छात्र को ख़ुदकुशी करने पर मजबूर होना पड़ा | निमरिता के एक्साम्स चल रहे थे और उन्होंने एक दिन पहले ही उनका पहला पेपर हुआ था |

विशाल ने अपनी बहन का पोस्टमार्टम निजी अस्पताल के डॉक्टरों से कराने की मांग की। परिवार ने सोशल मीडिया पर भी #JusticeForNimrita (हैशटैग जस्टिस फॉर निमरिता)  के नाम से एक मुहिम छेड़ी है। सांसद व पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के सिंध की अल्पसंख्यक शाखा के प्रमुख खील दास कोहिस्तानी ने ट्वीट में कहा कि लरकाना के मेडिकल कॉलेज हॉस्टल से बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा का शव मिला है जिसके साथ बर्बरता किए जाने के निशान मिले हैं।

निमरिता बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी (Shaheed Mohtarma Benazir Bhutto Medical University Larkana) के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की बीडीएस की अंतिम वर्ष की छात्रा थी जो सोमवार को अपने हॉस्टल के कमरे में संदिग्ध हालात में मृत मिलीं। सूत्रों के मुताबिक छात्रा का शव छत से लटकता मिला। मामला उजागर होने के बाद कालेज प्रशासन के हाथ पाँव फुले हुए हैं और वह इस मामले को दबाने में लगा हुआ है और इसे आत्महत्या करार दे रहा है | एक रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि कुमारी ने आत्महत्या की है।

उधर विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंदेशा जताया है कि हो सकता है कि छात्रा ने खुदकुशी की हो लेकिन उसके परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाया है। यह मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है और छात्रा के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है।

यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर प्रोफेसर अनीला अताउर रहमान के मुताबिक निमरिता के हॉस्टल का कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने बताया कि पुलिस छात्रा के फोन और अन्य चीजें फोरेंसिक जांच के लिए ले गई है। मौत की वास्तविक वजहों का पता चलना अभी बाकी है।

” घटना की सूचना मिलने के बाद मैं खुद और अन्य अधिकारी निमरिता के हॉस्टल पहुंचे। उनको दरवाजा तोड़कर बाहर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उसके बाद पुलिस को और छात्रा के घरवालों को जानकारी दी गई। शरीर पर किसी तरह की प्रताड़ना के निशान नहीं मिले लेकिन गले पर खरोंच पाई गई है जिससे खुदकुशी की आशंका लग रही है” प्रोफेसर अनीला अताउर रहमान ने कहा

निमरिता पाकिस्तान के घोटकी जिले के मीरपुर मथेलो शहर के एक बड़े व्यापारी घराने से ताल्लुक रखती थीं | पोस्टमॉर्टेम के बाद उनके शव को उनके पैतृक स्थान पर भेज दिया गया है।

यूनिवर्सिटी की रजिस्ट्रार डॉ. शाहिदा ने घटना की रिपोर्ट सिंध के मुख्यमंत्री को भेजी है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से घटना की विस्तृत जांच करने और छात्रा के माता-पिता की हर मदद करने के लिए कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here